• Home
  • |
  • About Us
  • |
  • Contact Us
  • |
  • Login
  • |
  • Subscribe
BPNLIVE

एशियाड में महिला बैडमिंटन में स्वर्ण से चूकीं

टेबल टेनिस में भी पहली बार मिला पदक

जकार्ता। पीवी सिंधु ने 18वें एशियाई खेलों में मंगलवार को बैडमिंटन महिला एकल का रजत पदक जीता। खिताबी मुकाबले में उन्हें चीनी ताइपे की ताई जू युंग ने 21-13, 21-16 से हराया। सिंधु एशियाई खेलों में बैडमिंटन के इतिहास में रजत पदक जीतने वाली पहली भारतीय हैं। इससे पहले बैडमिंटन की एकल स्पर्धा में भारत का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन दिल्ली एशियाड (1982) में रहा था। तब सैयद मोदी ने पुरुष एकल का कांस्य पदक अपने नाम किया था। एशियाई खेलों के बैडमिंटन इवेंट्स में भारत का यह 10वां पदक है। उधर, भारत ने एशियाड में टेबल टेनिस के इतिहास में भी पहली बार पदक जीता।

फाइनल मुकाबले में युंग ने सिंधु को 34 मिनट में ही मात दे दी। पूरे खेल में युंग हावी दिखीं। युंग ने पहले ही सेट की शुरुआत में सिंधु पर 5-0 से बढ़त बना ली थी। इस सेट को जीतने में उन्हें 16 मिनट लगे। दूसरे सेट में भी युंग के खिलाफ सिंधु कमजोर नजर आईं। वे 6-9 से पिछड़ रही थीं। इस बीच उन्होंने एक अंक लेकर युंग की बढ़त कम करने की कोशिश की, लेकिन कामयाब नहीं रहीं। दूसरा गेम 18 मिनट में 16-21 से हार गईं। वल्र्ड रैकिंग में युंग नंबर वन हैं, जबकि सिंधु तीसरी पोजिशन पर हैं।

 

साइना ने जीता था कांस्य

साइना नेहवाल ने सोमवार को बैडमिंटन महिला एकल का कांस्य पदक अपने नाम किया था। सेमीफाइनल मुकाबले में उन्हें चीनी ताइपे की ताई जू युंग ने 21-17 और 21-14 से हराया था। साइना और ताई जू युंग के बीच अब तक 17 मुकाबले हुए। इनमें साइना पांच और युंग 12 मैच जीतने में सफल रहीं। साइना नवंबर 2014 के बाद से युंग के खिलाफ कोई मुकाबला नहीं जीत पाईं हैं।

 

टेबल टेनिस में कांस्य पदक

टेबल टेनिस में पुरुष टीम इवेंट में भारत के हिस्से में कांस्य पदक आया। एशियाई खेलों के इतिहास में भारत को पहली बार टेबल टेनिस में कोई पदक मिला है। सेमीफाइनल में दक्षिण कोरिया ने भारत को 3-0 से हराया। टेबल टेनिस में सेमीफाइनल हारने वाली दोनों टीमों को कांस्य पदक दिया जाता है। 

Leave a comment