• Home
  • |
  • About Us
  • |
  • Contact Us
  • |
  • Login
  • |
  • Subscribe
BPNLIVE

शूटआउट में सोने से चूकी पुरुष टीम, कोरिया के खाते में गए दोनों स्वर्ण

मुक्केबाजी में भारत की पवित्रा और सोनिया लाठेर की चुनौती खत्म, क्वार्टर फाइनल में हारीं

जकार्ता। भारत ने 18वें एशियाई खेलों के 10वें दिन महिला और पुरुष तीरंदाजी की कम्पाउंड स्पर्धा में 2 रजत पदक जीते। महिला टीम को कोरिया ने 231-228 से हराया। वहीं, पुरुष स्पर्धा के फाइनल का फैसला शूटआउट में हुआ। दोनों स्पर्धाओं के स्वर्ण पदक कोरिया के खाते में गए। एशियाड में महिला टीम ने पहली बार रजत पदक जीता। इससे पहले 2010 ग्वांगझू में भारत ने महिला टीम रिकर्व स्पर्धा का कांस्य पदक जीता था। एशियाड में अब तक भारत के 45 पदक हो गए हैं।

भारतीय महिला टीम ने कम्पाउंड स्पर्धा में  शुरुआत बेहतर की। पहले राउंड में 59 का स्कोर किया। कोरियाई तीरंदाज 57 अंक ही ले पाए। हालांकि, दूसरे राउंड में कोरिया की टीम हावी रही और 58-56 से इसे अपने नाम किया। तीसरे राउंड में दोनों टीमों ने 58-58 का स्कोर किया। इस समय तक लग रहा था कि भारत स्वर्ण पदक जीत सकता है, लेकिन फाइनल राउंड में भारतीय टीम अपनी लय बरकरार नहीं रख पाई और टीम को 55 अंक ही मिले। कोरियाई तीरंदाजों ने 58 का स्कोर कर स्वर्ण पदक जीत लिया।

 

रजत जीतने वाली टीम में जयपुर के रजत

18वें एशियाई खेलों के 10वें दिन पुरुष तीरंदाजी की कम्पाउंड स्पर्धा में रजत पदक जीतने वाली पुरुष टीम मंे अमन सैनी और अभिषेक वर्मा के अलावा जयपुर के स्टॉर तीरंदाज रजत चैहान भी हैं। पुरुष टीम ने फाइनल मुकाबले में कोरिया से मिली हार के बाद सिल्वर पदक अपने नाम किया। जयपुर के रजत ने महज 18 साल की उम्र में तीरंदाजी की शुरुआत की थी। रजत चैहान के पिता ने अपनी कार बेचकर उन्हें तीरंदाजी सिखाने के पैसे इकट्ठे किए थे। वहीं, मां को भी अपने जेवर गिरवी रखने पड़े थे। रजत की मां निर्मला ने बताया कि टीम स्वर्ण पदक नहीं जीत पाई तो क्या हुआ। रजत जीतकर देश का नाम तो ऊंचा किया। उन्होंने कहा कि बेटे की इस कामयाबी से वह खुश हैं। उसके स्वागत के लिए तैयारी की जा रही है। रजत के मैच के दौरान बड़ी संख्या में रिश्तेदार और पड़ोसी रजत के घर पहुंच गए। उन्होंने वहीं बैठकर खेल देखा। पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट करके रजत को बधाई दी है। उन्होंने ट्वीट में लिखा है- भारत की कम्पाउंड पुरुष टीम को तीरंदाजी में सिल्वर पदक जीतने पर बधाई।

 

मुक्केबाजी में पदक से चूकीं सोनिया और पवित्रा

मुक्केबाजी में सोनिया लाठेर और पवित्रा अपने-अपने भार वर्ग के क्वार्टर फाइनल में हार गईं। इसके साथ ही दोनों की एशियाड में पदक जीतने की उम्मीदें टूट गईं। 60 किग्रा लाइटवेट वर्ग में इंडोनेशिया की हुस्वातुन हसाना ने पवित्रा को 3-2 से मात देकर सेमीफाइनल में प्रवेश किया। 57 किग्रा भार वर्ग में उत्तर कोरिया की सोन ह्वा जो ने सोनिया को 5-0 से हराया। सोन शुरुआत से ही सोनिया पर हावी दिखीं। उन्होंने अपने आक्रमण से भारतीय खिलाड़ी को दबाव में ला दिया। यही वजह रही कि सोनिया ठीक से अपना पंच तक नहीं लगा पाईं।

 

वॉलीबॉल में पाकिस्तान से हारा भारत

वॉलीबॉल के पुरुष वर्ग में पाकिस्तान ने भारत को 3-1 से मात दी। भारत ने पहला सेट 22 मिनट में 25-21 से जीत कर 1-0 की बढ़त हासिल की, लेकिन पाकिस्तान ने अगले तीन सेट 25-21, 25-21, 25-23 से जीतकर मैच अपने नाम कर लिया।

 

एथलेटिक्स में पदक की उम्मीद

महिला जेवलिन थ्रो में भारत की अनु रानी अपनी दावेदारी पेश करेंगी। उनसे पहले पुरुष वर्ग में नीरज चोपड़ा ने देश को स्वर्ण पदक जिताया था। पुरुष 800 मीटर दौड़ में भारत के जिन्सन जॉनसन और मंजीत सिंह ट्रैक पर होंगे। वहींमहिला 5 हजार मीटर दौड़ में सूर्या लोंगनाथन और संजीवनी बाबूराव चुनौती पेश करेंगी। 

Leave a comment