• Home
  • |
  • About Us
  • |
  • Contact Us
  • |
  • Login
  • |
  • Subscribe
BPNLIVE

एशियन गेम्स-2018 में दूसरा पदक, 100 मीटर में भी जीता था रत
23.20 सेकंड में पूरी की 200 मीटर की दौड़
हिमा दास गलत शुरुआत के कारण सेमीफाइनल में डिस्क्वॉलिफाई
जकार्ता। भारत की फर्राटा धाविका दुती चंद ने महिलाओं की 200 मीटर की दौड़ में सिल्वर मेडल जीता है। यह एशियन गेम्स-2018 में दुती का दूसरा सिल्वर मेडल है। दुती ने 23.20 सेकंड में 200 मीटर की दौड़ पूरी की। पहले स्थान पर बहरीन की इडिडियॉन्ग ओडियॉन्ग ने 22.96 सेकंड के साथ गोल्ड मेडल पर कब्जा किया। चीन की योंग ली वी ने 23.27 सेकंड के साथ ब्रॉन्ज मेडल जीता।  
दुती इस रेस में भारत की ओर से पदक की प्रबल दावेदार थीं। भारत की एक और धाविका हिमा दास मंगलवार को सेमीफाइनल में गलत शुरुआत के कारण डिस्क्वॉलिफाइ कर दी गईं थी। इससे पहले दुती ने महिलाओं की 100 मीटर दौड़ में भी सिल्वर मेडल जीता था। उन्होंने 200 मीटर के सेमीफाइनल में 23.00 सेकंड के अपने व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के साथ फाइनल में जगह बनाई थी। इसके साथ ही भारत के कुल पदकों की संख्या 52 हो गई है। भारत ने 9 गोल्ड, 20 सिल्वर और 23 ब्रॉन्ज मेडल जीत लिए हैं। एशियन गेम्स के 11वें दिन का यह भारत का दूसरा मेडल रहा। इससे पहले मणिका बत्रा और शरत कमल की जोड़ी ने टेबल टेनिस (मिक्स्ड डबल्स) में देश को ब्रॉन्ज मेडल दिलाया। 
 
सीडब्ल्यूजी-2014 में नहीं खेल पाईं दुती 
आईएएएफ ने 2014 में अपनी हाइपरएंड्रोगेनिजम नीति के तहत दुती को निलंबित कर दिया था जिस वजह से उन्हें उस साल के कॉमनवेल्थ गेम्स के भारतीय दल से बाहर कर दिया गया था। ओडि़शा की 22 साल की दुती ने आईएएएफ के फैसले के खिलाफ खेल पंचाट में अपील दायर की और इस मामले में जीत दर्ज करते हुए वापसी की। 

Leave a comment