• Home
  • |
  • About Us
  • |
  • Contact Us
  • |
  • Login
  • |
  • Subscribe
BPNLIVE


कहा, हमारे सहयोग बिना दो सप्ताह भी पद पर नहीं रह सकते शाह
वैश्विक स्तर पर महंगे होते क्रूड का असर अमेरिका पर भी 
दुबई। अमेरिका के राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने कहा कि सऊदी अरब के शाह अमेरिकी सैन्य सहयोग के बिना संभवतया दो सप्ताह भी पद पर बने नहीं रह सकते। यह कहकर, ट्रंप ने तेल की बढ़ती कीमतों को लेकर पश्चिमी एशिया में अमेरिका के सबसे करीबी सहयोगियों में से एक सऊदी अरब पर भी दबाव और बढ़ा दिया। कच्चे तेल की कीमतें चार साल में सर्वोच्च स्तर पर पहुंचने के बीच डॉनल्ड ट्रंप ने तेल उत्पादक देशों के संगठन ओपेक और सऊदी अरब से बार-बार इन दामों को कम करने की मांग की। हालांकि विश्लेषकों ने चेताया है कि तेल के दाम सौ डॉलर प्रति बैरेल तक जा सकते हैं क्योंकि विश्व का उत्पादन पहले से ही बढ़ा हुआ है और ईरान के तेल उद्योग पर ट्रंप के प्रतिबंध नवंबर की शुरुआत से लागू होंगे। 
गौरतलब है कि राष्ट्रपति चुनावों के दौरान ट्रंप ने अमेरिकी सहयोगियों को लंबे अर्से से दी जा रही सैन्य सहायताओं की तीखी आलोचना की थी। इस नई टिप्पणी के बाद ट्रंप अपने उसी पुराने स्टैंड की तरफ लौटते दिखाई दिए हैं। मिसिसिपी में ट्रंप ने अपने बयान में जापान और साउथ कोरिया का भी जिक्र किया है। ट्रंप ने सऊदी पर जो टिप्पणी की है वह वहां के राजा अल सउद से जुड़ी है। 
 
सेना के बदले मांगा भुगतान
ट्रंप ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा, हम सऊदी अरब की रक्षा करते हैं, क्या आप कहेंगे कि वे अमीर हैं? उन्होंने कहा, मैं शाह सलमान को बहुत पसंद करता हूं लेकिन मैंने कह दिया है कि शाह, हम आपको सुरक्षा दे रहे हैं। हमारे बिना आप शायद दो सप्ताह भी पद पर बने नहीं रह सकते। आपको अपनी सेना के लिए भुगतान करना होगा। हालांकि ट्रंप ने यह स्पष्ट नहीं किया कि उन्होंने सऊदी अरब के 82 साल के शाह के सामने ये टिप्पणियां कब कीं। सऊदी अरब ने ट्रंप की टिप्पणियों पर बुधवार को फिलहाल कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है। रिपोट्र्स के मुताबिक ट्रंप और शाह के बीच अंतिम बातचीत शनिवार को टेलिफोन पर हुई थी। इस दौरान दोनों तेल और वैश्विक बाजार में स्थायित्व बनाए रखने के लिए क्रूड की सप्लाई को मेंटेन रखने को लेकर बात की थी। 
 
अमेरिका में भी गैसोलीन महंगा
सऊदी अरब पिछले कुछ समय से ट्रंप के साथ बेहतर रिश्तों पर काम कर रहा है, लेकिन अब तेल की बढ़ती कीमतें इसके आड़े आ रही हैं। ब्रेंट क्रूड ऑइल का बेंचमार्क 85 डॉलर प्रति बैरल तक पहुंच गया है। चार सालों में यह सर्वाधिक कीमत है। ट्रंप ने जुलाई में ट्वीट किया था कि सऊदी अरब 20 लाख बैरल तक तेल का उत्पादन बढ़ाएगा। फिलहाल सऊदी अरब रोजाना 10 लाख बैरल क्रूड का उत्पादन करता है। सऊदी का रेकॉर्ड 1 करोड़ 7 लाख 20 हजार बैरल क्रूड के उत्पादन का है। इस बीच अमेरिका में भी गैसोलीन की कीमतें बढ़ रही हैं। नवंबर में ट्रंप को मिड टर्म चुनावों का भी सामना करना है। पिछले हफ्ते संयुक्त राष्ट्र में दिए गए अपने बयान में ट्रंप ने तेल उत्पादक देशों और उनके समूह ओपेक की आलोचना भी की थी। ट्रंप ने उन्हें बढ़ती तेल कीमतों के लिए जिम्मेदार ठहराया था। 
 

Leave a comment