• Home
  • |
  • About Us
  • |
  • Contact Us
  • |
  • Login
  • |
  • Subscribe
BPNLIVE

स्टेच्यू ऑफ यूनिटी के लोकार्पण पर पीएम मोदी का कांग्रेस पर निशाना

गुजरात में सरदार पटेल का ऐतिहासिक स्मारक तैयार

 

गांधीनगर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि आज की घटना देश के इतिहास में बहुत महत्वपूर्ण हैं और ऐसी घटनाओं को मिटाना बहुत मुश्किल है। यह सभी भारतीयों के लिए एक ऐतिहासिक अवसर है। मैं सरदार साहब की इस मूर्ति को राष्ट्र को समर्पित करने के लिए भाग्यशाली हूं। यह बात मोदी ने देश के पहले गृहमंत्री और उपप्रधानमंत्री सरदार पटेल की 143 वीं जयंती पर मूर्ति स्टैच्यू ऑफ यूनिटी को देश को समर्पित करने के अवसर पर कही।

मोदी ने कहा कि यह एक परियोजना है, जिसे हमने उस समय सोचा था जब मैं गुजरात का मुख्यमंत्री था। स्टैच्यू ऑफ यूनिटी बनाने के लिए, पूरे भारत के लाखों किसान एक साथ आए, उन्होंने अपने उपकरण, मिट्टी के हिस्से दिए और इस प्रकार, एक जन आंदोलन शुरू हुआ।

 

पटेल को किया नजरअंदाज

मोदी ने बिना नाम लिए कांग्रेस को निशाना बनाते हुए कहा कि पटेल को नजरअंदाज किया गया। उनकी वजह से साढे पांच सौ रियासतों का एकीकरण किया गया। सरदार पटेल ने देश को एक रास्ता दिखाया। पटेल ने देश को एकसूत्र में बांधने का कार्य किया है। यह प्रतिमा किसानों के खेतों की मिट्टी से बनी हुई है। प्रधानमंत्री ने कहा कि यह प्रतिमा न्यू इंडिया की अभिव्यक्ति है।

 

ये मुहिम राजनीति नहीं

प्रधानमंत्री ने कहा कि कई बार तो मैं हैरान रह जाता हूं, जब देश में ही कुछ लोग हमारी इस मुहिम को राजनीति से जोडकऱ देखते हैं। सरदार पटेल जैसे महापुरुषों, देश के सपूतों की प्रशंसा करने के लिए भी हमारी आलोचना होने लगती है। ऐसा अनुभव कराया जाता है मानो हमने बहुत बड़ा अपराध कर दिया है। आज देश के लिए सोचने वाले युवाओं की शक्ति हमारे पास है। देश के विकास के लिए, यही एक रास्ता है, जिसको लेकर हमें आगे बढऩा है। देश की एकता, अखंडता और सार्वभौमिकता को बनाए रखना, एक ऐसा दायित्व है, जो सरदार साहब हमें देकर गए हैं । पटेल की स्टैचू ऑफ यूनिटी दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा है। मोदी ने कहा कि हमारी जिम्मेदारी है कि हम देश को बांटने की हर तरह की कोशिश का पुरजोर जवाब दें। इसलिए हमें हर तरह से सतर्क रहना है। समाज के तौर पर एकजुट रहना है । 

 

दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा

इस कार्यक्रम में करने गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह समेत कई बड़े नेता भी मौजूद हैं। आपको बताते जाए कि भारत की 562 देसी रियासतों को एकसूत्र में पिरो कर आजाद भारत की नई तस्वीर बनाने वाले सरदार पटेल ही हैं। भारत में लौह पुरुष के नाम से विख्यात सरदार 182 मीटर की यह प्रतिमा अमेरिका की मशहूर स्टैचू ऑफ लिबर्टी से करीब दोगुनी ऊंची बताई जा रही है। साधु बेट टापू पर इस प्रतिमा को बनाने में 2979 करोड़ रुपए खर्च हुए हैं। ब्रोन्ज, स्टील जैसी तमाम चीजों से मिलाकर बनी यह प्रतिमा शूलपनेश्वर वन्यजीव अभयारण्य की विंध्य और सतपुड़ा की पहाडिय़ों के बिलकुल सामने बनाई गई है।  

Leave a comment