• Home
  • |
  • About Us
  • |
  • Contact Us
  • |
  • Login
  • |
  • Subscribe
BPNLIVE

सीएमआर में दिनभर लगा रहा नेताओं का तांता

समर्थकों ने जमकर की नारेबाजी

यूनुस, कालीचरण, भड़ाण सहित कई दिग्गज पहुंचे

 

जयपुर। 131 उम्मीदवारों की बीजेपी की पहली सूची में टिकट से वंचित रहे नेताओं और बाकी बची 69 सीटों के कई दावेदारों ने आज मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के निवास पर हाजिरी लगाई। सुबह से ही राजे का निवास नेताओं और उनके समर्थकों के लिए राजनीति का केंद्र बना रहा। इस दौरान कई नेताओं ने समर्थकों ने भी टिकट कटने को लेकर नाराजगी जताई।

दरअसल, सुबह से ही सीएम राजे के निवास स्थान पर नेताओं के आने-जाने का सिलसिला शुरू हो गया था। राजे सरकार में दूसरे नंबर के मंत्री रहे यूनुस खान हों या फिर चिकित्सा मंत्री कालीचरण सराफ हों, सभी सीएमआर पहुंचे और टिकट को लेकर अपनी दावेदारी सीएम के सामने रखी। हालांकि वहां से निकलने के बाद किसी ने भी मीडिया से बातचीत नहीं की और चुपचाप अपने साथियों के साथ वहां से निकल गए। सूत्रों का कहना है कि सीएम ने साफ कर दिया है कि अंतिम फैसला सीईसी को ही करना है, ऐसे में पार्टी के शीर्ष नेतृत्व पर उन्हें भरोसा रखना चाहिए।

 

दिग्गजों ने लगाई मुख्यमंत्री से गुहार

- पीडब्ल्यूडी मंत्री यूनुस खान

- पूर्व विधानसभा अध्यक्ष सुमित्रा सिंह और विवेक सिंह

- मंत्री हेम सिंह भड़ाना

- चिकित्सा मंत्री कालीचरण सराफ

-भवानी सिंह राजावत भी पहुंचे राजे से मिलने

 

 

टिकट के लिए बना रहे दबाव

पार्टी सूत्रों का कहना है कि जिन 69 सीटों की घोषणा नहीं की गई है, उनसे जुड़े करीब एक दर्जन वरिष्ठ नेेताओं ने अब दबाव बनाना भी शुरू कर दिया है। यही कारण है कि उनके समर्थकों ने आज सीएम आवास पर शक्ति प्रदर्शन किया और मुख्यमंत्री से अपने नेता को टिकट देने की गुहार भी की। इस दौरान टोंक, पाली और चूरू जिले से भी बड़ी संख्या में पार्टी पदाधिकारी और समर्थक सीएमआर पहुंचे। हालांकि किसी को भी टिकट को लेकर स्पष्ट आश्वासन नहीं मिल पाया।

 

 

- दिग्गजों की टिकट में फंसे पेंच

- यूनुस खान को भारी पड़ रही संघ की नाराजगी

- कालीचरण सराफ के खिलाफ भ्रष्टाचार की शिकायतें

- रायशुमारी की नेगेटिव रिपोर्ट से हेमसिंह भडाना की टिकट पर संकट

- पूर्व विधायक कन्हैया लाल मीणा के समर्थकों का हंगामा

 

फिर भी नहीं मिला आश्वासन

टिकट कटने अथवा टिकट नहीं मिलने की संभावना से परेशान नेताओं ने भले ही मुख्यमंत्री राजे के दर पर हाजिरी लगाई हो लेकिन उन्हें टिकट को लेकर कोई आश्वासन अभी भी नहीं मिला है। ऐसे में अब बाकी बची टिकटों की दौड़ भी दिल्ली पर केंद्रित हो गई है। ऐसे में दावेदारों की परेशानियां और बढ़ गई हैं।

 

Leave a comment