• Home
  • |
  • About Us
  • |
  • Contact Us
  • |
  • Login
  • |
  • Subscribe
BPNLIVE

बीजेपी-कांग्रेस की नाराजगी से लाभ उठाने की कोशिश में दूसरे दल

 

जयपुर। कांग्रेस प्रत्याशियों की सूची जहां यक्ष प्रश्न बनी हुई है, वहीं प्रदेश में तीसरी शक्ति बनकर उभरने का दावा कर रहे दलों ने भी अभी तक अपने पत्ते नहीं खोले हैं। लोकतांत्रिक मोर्चे के साथ ही भारत वाहिनी पार्टी और राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी की सूची का अभी इंतजार है तो बसपा और आम आदमी पार्टी ने भी अभी कई सीटों पर अपने प्रत्याशी घोषित नहीं किए हैं।

प्रदेश में विधानसभा चुनाव के लिए नामांकन भरने का गुरुवार को चौथा दिन था, लेकिन अभी तक राजनीतिक पार्टियों में प्रत्याशियों को लेकर संशय बना हुआ है।

माक्र्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के प्रमुख घटक दल वाले लोकतांत्रिक मोर्चा, घनश्याम तिवाड़ी की भारत वाहिनी पार्टी और हनुमान बेनीवाल की राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी ने अभी तक अपने प्रत्याशियों के नामों की घोषणा नहीं की है। वहीं आम आदमी पार्टी ने अभी तक 104 तो बहुजन समाज पार्टी ने भी अभी तक 78 सीटों पर ही अपने प्रत्याशियों के नाम घोषित किए हैं। दरअसल बीजेपी और कांग्रेस के सामने जहां चुनौती टिकटों की सूची जारी होने के बाद बगावत को थामने की है वहीं तीसरे मोर्चे की रणनीति इन दोनों पार्टियों में होने वाली इस बगावत से पूरा फायदा उठाने की नजर आ रही है।

 

तीसरी शक्ति होने का कर रहे हैं दावा

बीजेपी अभी तक दो सूचियां जारी कर चुकी है। इन सूचियों के आने के बाद पार्टी में बड़े स्तर पर बगावत देखने को मिल रही है. वहीं कांग्रेस की सूची जारी होने के बाद भी हालात कुछ इसी तरह होने की संभावना जताई जा रही है। बीजेपी और कांग्रेस से निराश होने वाले दावेदार दूसरे दलों का दामन थाम कर अपनी चुनावी नैया पार लगाने की कवायद करेंगे। प्रदेश में तीसरा मोर्चा संगठित नहीं हैं। कई दल और गठबंधन अलग-अलग रूप से खुद को तीसरी शक्ति होने का दावा कर रहे हैं।

Leave a comment