• Home
  • |
  • About Us
  • |
  • Contact Us
  • |
  • Login
  • |
  • Subscribe
BPNLIVE


अमित शाह की दखल के बाद सांगानेर में बीजेपी को राहत
अशोक लाहौटी के बिगड़ते समीकरण आए वापस पटरी पर 
जयपुर। टिकट न मिलने पर बागी हुए भाजपा विधायक ज्ञानदेव आहूजा ने गुरुवार को नामांकन वापस ले लिया। बुधवार को उनकी भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष और मुख्यमंत्री राजे से मुलाकात हुई थी। उन्होंने जयपुर जिले की सांगानेर विधानसभा सीट से निर्दलीय नामांकन दाखिल किया था। नामांकन वापस लेने के बाद आहूजा ने कहा कि पार्टी अध्यक्ष के आग्रह के बाद उन्होंने यह कदम उठाया है।
नामांकन लेने पहुंचे आहूजा ने विक्ट्री का साइन बनाया और बोले- वी फोर विक्ट्री। उन्होंने कहा कि बुधवार को जयपुर आए पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से उनकी मुलाकात हुई। जनता ने देखा वे मेरा हाथ पकड़ कर ले गए और बोले आपका टिकट कटने की जिम्मेदारी मैं लेता हूं। शाह के आग्रह के बाद मैंने नामांकन वापस लेने का फैसला किया। आहूजा ने कहा, छत्रपति शिवाजी की रणनीति चार कदम आगे और दो कदम पीछे की रणनीति से भी जंग जीती जा सकती है। हिंदुत्व को लेकर जो मुद्दे हैं उन पर मैं काम और संघर्ष करता रहूंगा।
वसुंधरा राजे और प्रदेश नेतृत्व पर साधा था निशाना
इससे पहले आहूजा ने टिकट कटने पर मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और प्रदेश नेतृत्व पर निशाना साधा था। उन्होंने कहा था कि पार्टी में टिकट के लिए की गई रायशुमारी, पारदर्शिता और सर्वे सब नाटक था। तानाशाही के सामने इन सबकी हत्या हो गई।
 

Leave a comment